मंगलवार, 21 मई 2013

भुलाया ना जायेगा

नज़र के सामने है हमसे भुलाया न जायेगा,
सजा लो आशियां पर हमसे अब आया न जायेगा।

अश्कों से धो के आंखें जागे तमाम शब,
ये इंतेज़ार् अब तो निभाया न जायेगा।

हैं बेहिज़ाब यादें चेहरे से झलकती हैं,
ये इश्तिहार हमसे छुपाया न जायेगा।

बेशक ही मेहफिलें भी हैं  तेरे दम से रोशन,
पर तज़्किरा अब हमसे उठाया न जायेगा।